पद्म पुरुष्कार आईये जानते है छत्तीसगढ़ के उन महान हस्तियों के बारे में जिन्हे भारत सरकार द्वारा पद्म पुरुष्कार से सम्मानित किया गया है – श्री हबीब तनवीर – पद्मश्री -1983 पद्मभूषण -2002 हबीब तनवीर जी छत्तीसगढ़ के प्रमुख रंगकर्मी रहे है और राज्यसभा के सदस्य भी रहे है। इन्होने 1954 में “हिंदुस्तान थियेटर” की स्थापना की और 1959 में “नया थियेटर” स्थापित किया था। चरणदास चोर, आगरा बाजार,माटी की गाड़ी आदि का…

     लोकनृत्य यंहा “लोक” का आशय छत्तीसगढ़ की जनता से है, और “नृत्य” का आशय जनता के द्वारा की जाने वाली पारम्परिक डांस है। यह प्रदेश लोकनृत्यो की दृष्टि से एक समृद्ध राज्य है। यंहा की जनजातियों द्वारा की जाने वाले लोकनृत्य विश्व प्रशिद्ध है। आइए जानते है छत्तीसगढ़ के प्रमुख नृत्यों के बारे में – सुआ नृत्य – यह नृत्य छत्तीसगढ़ का सबसे लोकप्रिय…

राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दिवस हिंदी में दोस्तों आईये जानते है राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय दिवसों के बारे में जो परीक्षा के दृष्टिकोण से बहुत ही महत्वपूर्ण  है – जनवरी माह के प्रमुख इवेंट लुईस ब्रेल दिवस – 4 जनवरी विश्व हास्य दिवस -10 जनवरी राष्ट्रीय युवा दिवस – 12 जनवरी थल सेना दिवस – 15 जनवरी   भारत पर्यटन दिवस -25 जनवरी गणत्रंत दिवस -26 जनवरी अंतर्राष्ट्रीय सीमा शुल्क एवं उत्पाद दिवस-…

स्वामी विवेकानन्द स्वामी विवेकानन्द का वास्तविक नाम नरेन्द्र नाथ दत्त था। उन्होंने अमेरिका स्थित शिकागो में सन् 1893 में आयोजित विश्व धर्म महासभा में भारत की ओर से सनातन धर्म का प्रतिनिधित्व किया था। वे रामकृष्ण परमहंस के सुयोग्य शिष्य थे। उन्हें प्रमुख रूप से उनके भाषण की शुरुआत “मेरे अमरीकी भाइयो एवं बहनों” के साथ करने के लिये जाना जाता है। अनमोल विचार उठो,…

जापानी इंसेफेलाइटिस मच्छर के काटने से मरेलिया होता है, यह तो आपने सुना होगा। परन्तु मच्छर के काटने से दिमागी बीमारी भी हो सकती है ये सुना है। चलिए हम आपको बताते है ऐसे खतरनाक वायरस के बारे में जो तेजी से फ़ैल रहा है। यह एक घातक दिमागी बीमारी है जो मच्छरो से फ़ैल रही है। जिसका अभी (2018) तक कोई निश्चित इलाज नहीं…

http://morchhattishgarh.com

SUPER 30 QUESTION FOR CGPSC 2019( इतिहास ) [section 1] 1. चीनी यात्री व्हेनसांग ने सिरपुर को किस नाम से सम्बोधित किया है ? a. क्यों-सी-लो b. को-सी-लो c. किया-स-लो d. जी-स-लो ans-(c) 2. सुमेलित कीजिये- A. राजर्षितुल्य वंश   –  1. दायित प्रथम B. नागवंश              –  2. कवर्धा का फनीनागवंश C. शरभपुरी वंश     –  3. शरभ D. महाशिव…

|व्यक्तित्व परिचय / स्वतंत्रता सेनानी | आईये इस आर्टिकल के माध्यम से जानते है छत्तीसगढ़ के उन महान हस्तियों के बारे में जिन्होंने छत्तीसगढ़ के माटी के लिए अपना पूरा जीवन लगा दिया। इन्होने सामाजिक, राजनैतिक, धार्मिक सभी क्षेत्रों में अपनी पूर्णरूप से भूमिका निभाई -cg ki mahan hastiya शहीद वीरनारायण सिंह जन्म- 1795 ( सोनाखान) मृत्यु – 10 दिसम्बर 1857 पिता- श्री रामसाय बिंझवार…

छत्तीसगढ़ी मुहावरे एवं हिंदी अनुवाद- आईये दोस्तों जानते है कुछ ऐसे मुहावरे जो छत्तीसगढ़ में बहुत प्रचलित है और जिससे लोगो को बहुत कुछ सीखने को मिलता है – अचरा मारना:-टोना करना कोरी खरिखा होना:-बहुसंख्यक होना गाय के गोड़ म बछरू बाँधना:-नियंत्रण में रखना डूमर कीरा होना:-सीमित दायरे में रहना दउहा बुताना:-नाम मिट जाना अरी के तेल बरी म निकालना:-अवसर का लाभ लेना जिजोधन डारना:-विवाह…

छत्तीसगढ़ी लोकोक्तियाँ एवं हिंदी अनुवाद आईये दोस्तों जानते है कुछ ऐसे लोकोक्तियाँ जो छत्तीसगढ़ में बहुत प्रचलित है और जिससे लोगो को बहुत कुछ सीखने को मिलता है, छत्तीसगढ़ी भाषा में लोकोक्तियाँ को “हाना” कहते है– धरम करे मां जउन होय हानि तभू न छाड़य धरम के बानी। धर्म के पथ पर चलने से अगर हानि हो तभी भी धर्म का साथ नहीं छोड़ना चाहिए। कोईली…

छ.ग. के साहित्यकार एवं रचनाये  आईये इस आर्टिकल के माध्यम से जानते है, छ.ग के साहित्यकारों और उनकी रचनाओं के बारे में –   नरसिंह दस वैष्णव- छ.ग प्रथम कवि एवं प्रथा कविता- शिवायन (1904) लोचन प्रसाद पांडेय- छ.ग. का प्रथम नाटक- कलिकाल (1905)   बंशीधर पांडेय- छ.ग.का प्रथम कहानी- हीरु के कहिनीज (1926) पंडित सुंदरलाल शर्मा- उपन्यास -प्रहलाद चरित्र, ध्रुव चरित्र, सीता परिणय, पार्वती…