छत्तीसगढ़ के पद्म पुरुष्कार विजेता

November 21, 2018

पद्म पुरुष्कार

आईये जानते है छत्तीसगढ़ के उन महान हस्तियों के बारे में जिन्हे भारत सरकार द्वारा पद्म पुरुष्कार से सम्मानित किया गया है –

श्री हबीब तनवीर –

पद्मश्री -1983

पद्मभूषण -2002

हबीब तनवीर जी छत्तीसगढ़ के प्रमुख रंगकर्मी रहे है और राज्यसभा के सदस्य भी रहे है। इन्होने 1954 में “हिंदुस्तान थियेटर” की स्थापना की और 1959 में “नया थियेटर” स्थापित किया था। चरणदास चोर, आगरा बाजार,माटी की गाड़ी आदि का मंचन करने का श्रेय इन्ही को जाता है। इनका मंचन करने का तरीका और से कई अलग था। 1983 में हबीब तनवीर को डी.लिट् की उपाधि संगीत विश्व विद्यालय खैरागढ़ से से दिया गया था।

 

श्रीमति तीजन बाई –

पद्मश्री -1987

पद्मभूषण – 2003

तीजन बाई एक पंडवानी गायिका है जो पाटन, दुर्ग की रहने वाली है। इन्होने छत्तीसगढ़ का नाम देश- विदेशो में विख्यात किया है। ये वेदमती शैली की पंडवानी गायिका है। तीजन बाई को डी.लिट् की उपाधि गुरुघासीदास विश्व विद्यालय से प्राप्त है। इनके गुरु का नाम झाडूराम देवांगन एवं रावण झीवन है।

 

पंडित मुकुटधर पांडेय –

पदमश्री- 1976

30 सितम्बर 1895 बालपुर (जांजगीर-चापा) में प. मुकुटधर पांडेय का जन्म हुआ। “प. मुकुटधर पांडेय स्मृति शिक्षक सम्मान” इन्ही के सम्मान में दिया जाता है। इन्होने छायावादी काव्यधारा की पहली कविता “कुर्री के प्रति” लिथी।

 

व्यक्तिवर्ष
राजमोहनिदेवी1989
धर्मपाल सैनिक1992
डॉ. त्रयम्बक दबके2004
श्री पुनाराम निषाद2005
सुश्री मेहरुनिशा परवेज2005
डॉ. महादेव प्रसाद पांडेय2007
जार्ज मार्टिन2008-09
गोविंदराम निर्मलकर2009
डॉ.सुरेंद्र दुबे2011
श्री सत्यदेव दुबे2011
डॉ. पुखराज बाफना2011
श्रीमती फुलबासन2012
श्रीमती शमशाद बेगम2012
श्री अनुज शर्मा2013

3862total visits,2visits today

Leave a Reply:

Your email address will not be published. Required fields are marked *