Nimbu ke fayede in hindi

October 17, 2018

निम्बू के फायदे

आज हम आपको निम्बू के आश्चर्य जनक फायदे के बारे में बताने वाले है। निम्बू एक ऐसा फल है जो हर एक मौसम में उपलब्ध रहता है। निम्बू में विटामिन c होता है जो की हमारे शरीर के लिए बहुत ही फायेदमंद है।

यह हमारे शरीर से टॉक्सिन को बाहर निकलने में मदद करता है और शरीर की एमुनिसिस्टम को बढ़ता है। इसे सामान्य पानी में घोल कर पीना चाहिए, क्योकि गरम पानी के साथ पिने में विटामिन ” c ” नष्ट होने लगता है।

भोजन के समय निम्बू का प्रयोग नहीं करना चाहिए। इससे लार की क्षारीयता बने रहता है।

निम्बू के फायदे आयुर्वेद के अनुसार

लीवर संबंधी विकारो को दूर करता है। वात, पित्त, कफ, को दूर करता है। इसे सुबह ग्रहण करने से उलटी, चक्कर आना, अपचक, आदि से राहत मिलता है। दिल के लिए हितकारी है। पाईल्स, श्वास, खांसी, कफ,कब्ज में लाभकारी है। हैजा, मरेलिया, दस्त, एवं मुख की दुर्गन्ध को मिटाता है।

ब्लड प्रेशर एवं ह्रदय रोगो में

निम्बू रक्त नलिकाओ को लचीला बनता है। हानिकारक कोलेस्ट्रॉल को घटाने का कार्य निम्बू में मौजूद निमोलिन नामक तत्व करता है। हाई या लो ब्लड प्रेशर की बीमारी में निम्बू बड़ा उपयोगी होता है। शरीर की जरुरी खनिज लवणों की पूर्ति भी करता है।

टाइफाइड एवं पीलिया में

टाइफाइड एवं पीलिया रोग से ग्रसित होने पर पानी के साथ निम्बू का सेवन बहुत ही लाभकारी होता है। निम्बू टाइफाइड के वायरस को समाप्त करता है। टाइफाइड एवं पीलिया रोग से ग्रसित होने पर निम्बू पानी को दिन में 3 से 4 बार अवश्य ले। इससे लीवर और आंते स्वस्थ होता है। फलो का रस, हरी सब्जिया का रस का सुप बनाकर पीना चाहिए। मिर्च मसालों का सेवन बिलकुल बंद कर देना चाहिए।

मोटापा में

हर दिन एक गिलास कुनकुना पानी में एक चम्मच शहद और एक निम्बू मिलाकर पिने से शरीर में से अनावश्यक चर्बी घटने लगती है। इससे शरीर स्व्स्थ होता है।

बुखार में

बुखार में निम्बू का रस का सेवन बहुत लाभकारी हो सकता है। पानी के साथ दिनभर हल्के हल्के मात्रा में निम्बू का रस लेते रहिये। निम्बू के रस में सेंधा नमक तथा शहद या फिर मिश्री मिलाकर जीवन रक्षक घोल ( इलेक्ट्राल के जैसा ) दिन भर थोड़ी थोड़ी मात्रा में ले। जो नियमित रूप से सुबह के समय निम्बू पानी लेते है वह ज़्यदातर भुखार के शिकार नहीं होते।

त्वचा संबंधी

दाद या काले दागो पर – प्रातः काल खली पेट निम्बू और एक चमच शहद के साथ पीने से दाद या काले दागो से राहत मिल सकती है। चमेली के तेल के साथ निम्बू के रस को एफ्फेक्टेड एरिया में लगाए फायदे होंगे।

झाई पर

शहद में निम्बू का रस मिलकर लेप बना ले और हर दिन झाई के जगह पर लगाए। झाई दूर होगी।

खुजली पर – 

नारियल के तेल में निम्बू का रस मिलाकर एफेक्टेड एरिया में लगाने से राहत मिलती है।

पथरी में

प्रातः काल निम्बू के रस के साथ सेंधा नाकाम मिलाकर पिए। यही लगभग 6 हफ्तों तक करे। खीरा मूली तरबूज पपीता अंगूर संतरा मौसमी फलो का सेवन अधिक से अधिक करे लाभ होगा।

बवासीर में

सुबह खली पेट एक गिलास ताजे दूध में एक निम्बू दाल कर 1 सप्ताह तक रोज पिए , लाभ मिलेगा। ये रामबाण इलाज है बवासीर के लिए।

बालो के झड़ने पर

निम्बू के रस में आवला चूर्ण मिलाकर बालो के जड़ो पर लगाए इससे बाल मजबूत होते है और रुसी होने का चांस बहुत काम होता है।

दूध पचा पाने पर

जिन लोगो को दूध नहीं पचता उनको दूध पिने के तुरंत बाद पानी में निम्बू के रस का सेवन करना चाहिए। इससे दूध पचने लगता है।

सावधानी रखेअपने निजी डॉक्टर के सलाह से ही नीबू का सेवन करे। निम्बू का सेवन हाइपर एसिडिटी और अल्सर में नही करना चाहिए।

 

368total visits,6visits today

1 people reacted on this

Leave a Reply:

Your email address will not be published. Required fields are marked *